देश-विदेश

हदें पार कर रहे तबलीगी जमात के कोरोना संदिग्ध, इलाज में जुटे डॉक्टरों पर भी थूक रहे

नई दिल्‍ली. दिल्‍ली के निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) से तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) के कोरोना संक्रमण संदिग्‍धों (Coronavirus) को ले जाकर तुगलकाबाद में क्‍वारंटीन सेंटर (पृथक केंद्र) में रखा गया है. पहले ये लोग निजामुद्दीन मरकज को छोड़कर जाने को तैयार नहीं थे और अब ये लोग क्‍वारंटीन सेंटर में उनका इलाज कर रहे डॉक्‍टरों और अन्‍य कर्मचारियों को भी परेशान कर रहे हैं. उत्‍तर रेलवे के सीपीआरओ दीपक कुमार के मुताबिक ये सभी लोग पृथक केंद्र में जगह-जगह थूक रहे हैं. इसके साथ ही ये डॉक्‍टरों और कर्मचारियों पर भी थूक रहे हैं. बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमित या संदिग्‍ध लोगों के थूकने से इसके संक्रमण के प्रसार को खतरा कई गुना बढ़ जाता है.

खराब बर्ताव कर रहे हैं लोग
सीपीआरओ के मुताबिक ये लोग बुधवार सुबह से ही खराब बर्ताव कर रहे हैं. ये सभी खाने-पीने की अनावश्‍यक चीजों की मांग कर रहे हैं. सीपीआरओ दीपक कुमार के अनुसार ये सभी लोग उनके इलाज में जुटे डॉक्‍टरों और उनकी देखरेख कर रहे कर्मचारियों के साथ बुरा बर्ताव कर रहे हैं. वे सभी क्‍वारंटीन सेंटर में जगह-जगह थूक रहे हैं. वह रोक के बावजूद हॉस्‍टल में घूमने लगते हैं.

सड़कों पर भी थूक रहे थे
तबलीगी जमात के इन 167 कोरोना संदिग्‍धों को मंगलवार रात को 5 बसों से निजामुद्दीन मरकज से दिल्‍ली के तुगलकाबाद स्थित क्‍वारंटीन सेंटर ले जाया गया है. इनमें से 97 लोगों को डीजल शेड ट्रेनिंग हॉस्‍टल के क्‍वारंटीन सेंटर और 70 को आरपीएफ बैरक क्‍वारंटीन सेंटर में रखा गया है. बता दें कि ये सभी निजामुद्दीन मरकज से क्‍वारंटीन सेंटर ले जाए जाने के दौरान सड़कों पर भी थूक रहे थे. इन्‍हें थूकने से रोकने के लिए बसों के शीशे भी बंद करने पड़े थे.

संक्रमण के मामले बढ़ने में मरकज प्रमुख वजह

स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण के 386 नये मामलों की पुष्टि और इससे तीन लोगों की मौत होने की जानकारी देते हुए बुधवार को बताया कि कोविड-19 के मामलों में वृद्धि राष्ट्रीय स्तर पर संक्रमण फैलने की दर को नहीं दर्शाती, बल्कि इस बढ़ोतरी में निजामुद्दीन (पश्चिम) में हुआ एक आयोजन प्रमुख वजह रहा. बता दें कि दिल्ली स्थित निजामुद्दीन इलाके में एक से 15 मार्च तक हुये तबलीगी जमात के एक आयोजन में हिस्सा लेने वालों में से कई लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है.

तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होकर घर लौटे अधिकांश लोगों में कोरोना संक्रमण पॉजिटिव पाया गया है. ऐसे मामले देश के अलग-अलग राज्‍यों से सामने आ रहे हैं. राज्‍यों की पुलिस ऐसे लोगों की पहचान करने में जुटी हुई है.

देश में अब तक 39 मौतें
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने नियमित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के कुल 1637 मामले हो गये हैं जबकि इस वायरस से मौत का आंकड़ा 39 हो गया है. उन्होंने स्पष्ट किया कि दिल्ली में हुये तबलीगी जमात के कार्यक्रम के कारण कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले बढ़े हैं.