छत्तीसगढ़

कोरोना से ठीक होने के बाद भी 4 महीनों तक रहते हैं ये लक्षण, Study में खुलासा

नईदिल्ली I कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद ठीक हुए मरीज को हेल्थ से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. कोरोना वायरस  से पॉजिटिव लोगों में संक्रमण से उबरने के करीब 4 महीनों से अधिक समय बाद भी थकान और सिर में दर्द के लक्षण देखे गए हैं. एक अध्ययन में ये पाया गया कि कोविड -19 वाले 8 लोगों में से एक को उनके कोरोनो वायरस संक्रमण के 90 से 150 दिनों के बाद सांस लेने में तकलीफ और सामान्य थकान जैसी समस्या है.

एक अध्ययन में कहा गया है कि कोरोना वायरस संक्रमण से उबरने के बाद लंबे वक्त तक रहने वाले लक्षणों में हड्डियों में दर्द, खांसी, सूंघने की क्षमता के साथ स्वाद में बदलाव, बुखार, ठंड लगना और नाक का बंद होने के लक्षण देखे गए है. इस अध्ययन में कहा, कोरोना वायरस संक्रमण के बाद तंत्रिका मनोविज्ञान से जुड़े क्रमिक लक्षण देखे गए.

कोरोना वायरस लंबे वक्त तक चलने वाली बीमारी
अध्यन के अनुसार, जॉर्जिया में अगस्ता विश्वविद्यालय में तंत्रिका विज्ञानी एलिजाबेथ रुतकोव्स्की ने कहा, ‘बहुत सारे ऐसे लक्षण हैं जो महमारी की शुरुआत में हमें पता नहीं थे, लेकिन अब ये साफ है कि कोरोना वायरस संक्रमण लंबे वक्त तक चलने वाली बीमारी है. इसका असर बहुत सारे लोगों पर पड़ा है.’ अध्ययनकर्ताओं के मुताबिक, करीब आधे लोगों ने सूंघने की क्षमता (54.4 %) और स्वाद (54 %) में बदलावों होते देखा गया है. 

200 कोरोना मरीजों पर किया गया अध्ययन
दरअसल, ये अध्ययन 200 मरीजों पर किया गया है. इस अध्ययन में हिस्सा लेने वाले 8 प्रतिशत मरीजों ने तंत्रिका मनोचिकित्सा संबंधी लक्षण दिखने की बात कही, जिसमें से सबसे आम लक्षण थकान था, जो करीब 68.5 % मरीजों में देखा गया. इसके बाद 66.5 % मरीज सिर दर्द से परेशान दिखाई दिए.