छत्तीसगढ़

COVID variant: ओमिक्रॉन के इस वेरिएंट से रहें सतर्क! एक्सपर्ट ने बताया ट्रैक करना क्यों है जरूरी

नईदिल्ली I देश के कुछ राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामले चिंता बढ़ाने वाले हैं. कोरोना वेरिएंट के लगातार सब-वेरिएंट भी सामने आ रहे हैं जो एक बड़ी चुनौती के तौर पर उभरे हैं. विशेषज्ञों का मानना है कि नए सब-वेरिएंट का सामने आना इसलिए भी चिंताजनक है क्योंकि यह नए ट्रेंड की ओर इशारा करता है. साथ ही कब यह ट्रेंड नए स्ट्रेन का रूप लेगा, इसकी भविष्यवाणी करना भी मुश्किल है. अब तक 10 राज्यों में BA.2.75 वेरिएंट के मामले सामने आए हैं जिनमें दिल्ली और महाराष्ट्र शामिल हैं.

नए ट्रेंड की तरफ है इशारा

इन दोनों ही प्रदेशों में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी देखी गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय भी सब-वेरिएंट की मौजूदगी की पुष्टि कर चुका है. अब तक दुनिया के 8 देशों में सब-वेरिएंट के 85 सीक्वेंस सामने आ चुके हैं. इजरायल के शेहबा मेडिकल सेंटर के डॉक्टर शाए फ्लेशन ने बताया कि अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि क्या BA.2.75 वेरिएंट अगला सबसे खतरनाक वेरिएंट साबित होगा. उन्होंने कहा कि ये सब-वेरिएंट इस बात का इशारा करते हैं कि अभी कई और ट्रेंड्स आ सकते हैं.

उन्होंने आगे बताया कि सेकेंड जेनरेशन वेरिएंट से एक खास रीजन में कुछ मामले मिलते थे. लेकिन यह पहली बार है जब ओमिक्रॉन का सेकेंड जेनरेशन वेरिएंट कई इलाकों में एक साथ फैला है.  अगर BA.2.75 वेरिएंट आगे बढ़ता है तो सेकेंड जेनरेशन वेरिएंट भी ज्यादा ताकतवर होता जाएगा. इंपीरियल कॉलेज ऑफ लंदन के थॉमस पीकॉक के मुताबिक हमें सब-वेरिएंट पर नजरें गड़ाए रखनी हैं. 

दिल्ली-महाराष्ट्र में आए इतने केस

अगर सोमवार के कोरोना डाटा पर गौर करें तो दिल्ली में संक्रमण के 420 नए मामले दर्ज हुए हैं और इस दौरान एक मरीज की मौत हुई है. वहीं पिछले 24 घंटे में 749 मरीज बीमारी से ठीक हो चुके हैं. फिलहाल राजधानी में 3 हजार के करीब एक्टिव केस हैं और पॉजिटिविटी रेट सवा पांच फीसदी के पार जा चुकी है.

दूसरी ओर महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के 1,515 नए मामले आए हैं और 24 घंटे में तीन मरीजों की मौत हुई है. राज्य में अब तक संक्रमित हुए मरीजों की संख्या बढ़कर 79,86,811 हो गई, जबकि मृतकों की आंकड़ा 1,47,943 पर पहुंच गया. मुंबई में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 431 नए मामले मिले हैं, महाराष्ट्र में कोरोना से ठीक होने की दर 97.87 फीसदी जबकि मृत्यु दर 1.85 फीसदी दर्ज की गई. राज्य में संक्रमण दर 6.39 फीसदी है. कोरोना से जान गंवाने वाले तीन मरीजों में दो मुंबई शहर और एक रत्नागिरी से है.