छत्तीसगढ़

सियासी संकट के बीच फिर SC पहुंचे नवाब मलिक और अनिल देशमुख, की ये मांग

नईदिल्ली I राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के जेल में बंद विधायक नवाब मलिक और अनिल देशमुख ने महाराष्ट्र विधानसभा में शक्ति परीक्षण में भाग लेने की अनुमति मांगने के लिए बुधवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया. न्यायमूर्ति सूर्यकांत और न्यायमूर्ति जे बी परदीवाला की अवकाशकालीन पीठ को अधिवक्ता सुधांशु एस चौधरी ने बताया कि दोनों विधायकों पर धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत मामले दर्ज किए गए हैं और वे जेल में हैं. उन्होंने कहा कि दोनों नेता महाराष्ट्र विधानसभा में बृहस्पतिवार को सुबह 11 बजे होने वाले शक्ति परीक्षण में भाग लेना चाहते हैं.

फ्लोर टेस्ट को सुप्रीम कोर्ट में दी गई है चुनौती
अधिवक्ता सुधांशु एस चौधरी ने कहा कि वे मामले में हस्तक्षेप करने के अनुरोध वाली याचिका दायर कर रहे हैं, जिस पर शिवसेना नेता सुनील प्रभु की याचिका के बाद सुनवाई हो सकती है. प्रभु ने महाराष्ट्र के राज्यपाल द्वारा उद्धव ठाकरे नीत महा विकास आघाडी (MVA) सरकार को गुरुवार को विधानसभा में शक्ति परीक्षण कराने के लिए दिए गए निर्देश को चुनौती दी है.

सुप्रीम कोर्ट फ्लोर टेस्ट को लेकर कब करेगा सुनवाई
वहीं पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भी महाराष्ट्र में चिट्ठी लिखकर बहुमत परीक्षण की मांग की है. उन्होंने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की थी. वहीं फ्लोर टेस्ट के खिलाफ दायर याचिका पर आज शाम साढ़े पांच बजे सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा.