छत्तीसगढ़

CM उद्धव ठाकरे ने जिसे दूत बनाकर भेजा था एकनाथ शिंदे के पास, उस नेता ने ही बदल लिया पाला

मुंबई I महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। शिवसेना में विधायकों की टूट के बाद सांसद और एमएलसी का भी पाला बदलने का सिलसिला शुरू हो गया है। राज्य में चल रहे सियासी संकट के बीच उद्धव ठाकरे के बेहद करीबी माने जाने वाले शिवसेना नेता रवींद्र फाटक ने एकनाथ शिंदे का गुट ज्वॉइन कर लिया है।

हैरानी वाली बात यह है कि उद्धव ठाकरे ने रवींद्र फाटक को शिंदे गुट के पास एक दूत के रूप में भेजा था, लेकिन उन्होंने उद्धव ठाकरे से ही बगावत कर दी। ठाकरे ने रवींद्र फाटक को दूत बनाकर सूरत भेजा था ताकि वो बागी विधायकों को समझा सकें, लेकिन उन्होंने शिंदे गुट का दामन थाम लिया है। आपको बता दें कि रवींद्र फाटक विधायक नहीं हैं, बल्कि वो एमएलसी हैं।

शिवसेना के 40 के करीब विधायक हो चुके हैं बागी

रवींद्र फाटक के बागी होने के बाद सीएम उद्धव ठाकरे की मुश्किलें बहुत बढ़ गई हैं, क्योंकि लगातार बागी होते विधायकों की वजह से उद्धव ठाकरे के पास विधायकों की संख्या लागातार कम हो रही है। एकनाथ शिंदे के पास शिवसेना के विधायकों की संख्या 40 से उपर जा चुकी है। वहीं उद्धव ठाकरे के पास वर्तमान में 15 से भी कम विधायक बचे हैं।

कौन हैं एकनाथ शिंदे?

आपको बता दें कि रविंद्र फाटक को ही उद्धव ठाकरे ने एकनाथ शिंदे को मनाने सूरत भेजा था और फाटक ने ही उद्धव की बात शिंदे से कराई थी। रविन्द्र फाटक ठाणे के ही रहने वाले है और एकनाथ शिंदे के पड़ोसी भी हैं। ये एकनाथ शिंदे को समझाने गए थे, लेकिन एकनाथ ने इन्हें ही अब अपने पाले में मिला लिया। रवींद्र फाटक अपने साथ 2 और विधायक संजय राठौड़ और दादाजी भूसे को भी गुवाहटी ले गए हैं।