छत्तीसगढ़

नाराज पवार ने गृहमंत्री से पूछा- आखिर बागियों के भागने की जानकारी उन्हें क्यों नहीं थी?

नई दिल्ली : उद्धव सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं, जहां दो तिहाई विधायकों के साथ शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे गुवाहाटी में हैं। खास बात ये है कि बागी विधायकों में महाराष्ट्र के गृह राज्यमंत्री शंभूराज देसाई भी मौजूद हैं। इसको लेकर अब एनसीपी चीफ शरद पवार ने महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटिल के सामने गंभीर नाराजगी जताई है। साथ ही उनसे पूछा कि आखिर क्यों बागियों के भागने की जानकारी हमारे पास नहीं थी?

सूत्रों ने कहा कि दिलीप वलसे पाटिल और जयंत पाटिल ने बुधवार को मुंबई में पवार से उनके आवास पर मुलाकात की। उस दौरान पवार काफी परेशान थे। उन्होंने अपनी नाराजगी पार्टी के नेताओं को बताई। उन्होंने पूछा कि राज्य का खुफिया विभाग सरकार को सचेत क्यों नहीं कर सका, खासकर जब मंत्रियों सहित इतनी बड़ी संख्या में विधायक दूसरे राज्य में बगावत करने जाने वाले थे।

मामले में एक अधिकारी ने कहा कि जब भी कोई विधायक या मंत्री, जिसको सुरक्षा कवर मिला हो, वो दूसरे राज्य में जाता है, तो वो या उनके सहयोगी पुलिस अधिकारियों को सूचित करते हैं। कई बार गनर मंत्री या विधायक के साथ दूसरे राज्य में जाते हैं, उनके पास हथियार भी होते हैं। ऐसे में वो भी वरिष्ठ अधिकारियों को बताते हैं, ताकी दूसरे राज्य में उनको दिक्कत ना हो। ऐसे में सवाल उठ रहा कि आखिर क्यों इतनी बड़ी संख्या में विधायकों के दूसरे राज्य जाने की खबर गृह विभाग को नहीं हुई।

सूत्रों ने बताया कि पवार इस बात से भी नाराज थे कि इतनी बड़ी संख्या में विधायक दूसरे राज्य चले गए और एमवीए नेतृत्व चुपचाप देखता रहा। वहीं दूसरी ओर कुछ सूत्र ये भी कह रहे कि पवार शिंदे को सीएम पद देने को राजी हैं, लेकिन संजय राउत ने इस बात को खारिज कर दिया था।