छत्तीसगढ़

डोकलाम विवाद हुआ तो राहुल गांधी चीनी टेंट में पकड़े गए थे, कांग्रेस के सत्याग्रह पर बीजेपी का तीखा हमला

नईदिल्ली I अग्निपथ योजना के विरोध में पिछले पांच दिन से देश के हर हिस्से में युवाओं द्वारा  प्रदर्शन कर इसे वापस लेने की मांग की जा रही है. इसी बीच भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए अग्निपथ योजना को लेकर बातचीत की और कांग्रेस पर भी जमकर निशाना साधा. 

उन्होंने कहा कि सेना की भर्ती प्रक्रिया में बदलाव लाना आज का फैसला नहीं बल्कि 1989 से ही इस पर विचार किया जा रहा था. 1989 में पहली बार इस मामले पर पेपर प्रजेंट किया गया था और चिंतन किया गया था कि किस प्रकार सेना की उम्र को कम किया जा सके ताकि सेना की जो औसत उम्र है वह कम हो सके. उन्होंने कहा कि आज औसत उम्र अगर 32 साल है तो अग्निपथ स्कीम इसे 26 साल पर लाकर खड़ा करेगा, ये अपने आप में सेना के लिए गौरव का विषय है.

पात्रा ने कहा, ‘जिस प्रकार सेना की कॉन्फ्रेंस में लेफ्टिनेंट जनरल पूरी ने अग्निपथ योजना को समझाया है. मुझे लगता है कि अब इसके विषय में कोई संशय नहीं है. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान संबित पात्रा ने कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस ने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाए. उन्हें देश की सेना पर भरोसा नहीं है. वह राजनीति में गिरावट पैदा कर रह रही है. 

कांग्रेस को युवाओं पर भरोसा नहीं

पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी को आपने देश के युवाओं का इतना भी भरोसा नहीं है. आज वह सत्याग्रह कर रहे हैं, लेकिन जब डिफेंस के पास विमान नहीं थे. 10 सालों तक वह डिप्लिटेड स्ट्रेंथ में काम कर रही थी, तब कांग्रेस की सरकार ने एयरफोर्स में एक विमान ऐड नहीं किया. उन्होंने कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस के विधायक कह रहे हैं कि अगर ये योजना लागू होती है तो देश खून से लथपथ हो जाएगा. क्या सेना के लिए काम करना खून से लथपथ होना है. 

पात्रा ने आगे कहा, प्रियंका गांधी का एक ही मकसद है और वह है सरकार को गिराना. हालांकि इनकी पार्टी ने देश के लिए कुछ नहीं किया है. कांग्रेस ने एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक तक को तो नहीं छोडा. डोकलाम विवाद हुआ तो राहुल गांधी चीनी टेंट में पकड़े गए थे.