छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़: नशे ने ली 8वीं के स्टूडेंट की जान, मुंह से बंधी पन्नी से आ रही थी बोनफिक्स की बदबू; दम घुटने से मौत की आशंका

मुंह से बंधी पन्नी से आ रही थी बोनफिक्स की बदबू; दम घुटने से मौत की आशंका|कांकेर,Kanker - Dainik Bhaskar

कांकेर। जिले में नशे ने 8वीं के स्टूडेंट की जान ले ली। उसके मुंह पर एक पन्नी बंधी हुई थी, जिससे बोनफिक्स (नशा करने की एक ट्यूब) की बदबू आ रही थी। दम घुटने से मौत की आशंका जताई जा रही है। शनिवार को सुबह 6 बजे वो अपने घर से निकला था। मामला पखांजूर थाना क्षेत्र के बापू नगर का है।

छात्र साहेब मंडल कापसी स्थित विवेकानंद स्कूल में पढ़ाई कर रहा था। कापसी में वह अपने मामा के घर रहता था। स्कूल की छुट्‌टी होने के कारण अपने घर बापूनगर आया हुआ था। 

स्कूल के पीछे मिली लाश 
सुबह 10 बजे छात्र की लाश गांव के स्कूल के पीछे पड़ी हुई थी। मुंह में झिल्ली(पन्नी) लगी होने से वहां हड़कंप मच गया। देखते ही देखते वहां भारी भीड़ जमा हो गई। लाश के पास बोनफिक्स का पैकेट भी पड़ा हुआ था। जो झिल्ली उसके मुंह में लगी थी, उसमें भी बोनफिक्स की दुर्गंध आ रही थी। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच शुरू की है। शव का पोस्टमॉर्टम कराया गया है। जिसकी रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।

थोड़ी सी लापरवाही जान ले सकती है
इस तरह के नशे को लेकर डॅाक्टर दिलीप सिन्हा ने बताया की यदि ज्यादा मात्रा में बोनफिक्स का नशा किया जाए तो दिमाग सुन्न हो जाता है। इसके साथ ही नशा करने वाले को बेहोशी भी आ सकती है। इस दौरान थोड़ी सी लापरवाही जानलेवा साबित हो सकती है। झिल्ली अगर मुंह में चिपक गई तो सांस नहीं ले पाने के कारण मौत भी हो सकती है।

दुकानों की करेंगी जांच
इधर,पखांजूर थाना प्रभारी मोरध्वज देशमुख ने बताया मामले में मर्ग कायम कर जांच की जा रही है। इस प्रकार के नशे में लगाम लगाने के लिए पुलिस सक्रियता से काम करेगी। दुकानों की भी जांच कराई जाएगी।

झिल्ली में लगाकर रगड़ते हैं
बोनफिक्स का इस्तेमाल इन दिनों युवाओं में काफी बढ़ गया है। परेशान करने वाली बात ये है कि स्कूली छात्र भी नशा करने बोनफिक्स का इस्तेमाल करने लगे हैं। बताया जाता है कि इसके ट्यूब को पन्नी में पहले रगड़ा जाता है। इसके बाद उस झिल्ली को जोर-जोर से सूंघा जाता है।