छत्तीसगढ़

बिलासपुर: डिप्टी रेंजर की संदिग्ध मौत के बाद बवाल, जांच करने गई पुलिस के सामने पत्नी और एक अन्य महिला भिड़ीं, दोनों ने एक-दूसरे को बताया दोषी

बिलासपुर। शनिवार रात मिली डिप्टी रेंजर की लाश की जांच करने पहुंची पुलिस को नए विवाद का सामना करना पड़ा। वहां पहुंची एक महिला ने डिप्टी रेंजर की मौत का कारण उनकी पत्नी और घरवालों को बताया, जबकि घरवालों ने उस महिला को जिम्मेदार बताया। पुलिस ने किसी तरह विवाद शांत करा महिला को वहां से भेजा। चकरभाठा स्थित राम मंदिर के पीछे रहने वाले देवेंद्र पाठक (61 साल) डिप्टी रेंजर थे। पिछले कुछ समय से वे ड्यूटी पर नहीं जा रहे थे। वे चकरभाठा में अकेले रहते थे। सरकंडा में भी उनका मकान है, जहां पत्नी अंजना पाठक रहती थीं। यहां उनकी दो बेटियां भी रहती हैं । बताया जा रहा है कि दूसरी महिला के साथ उनका प्रेम संबंध हो गया था। इसके चलते उनकी पत्नी के साथ आए दिन विवाद होता था। महिला भी उनके साथ कभी-कभी रुक जाती थी। बुधवार को सरकंडा से उनकी पत्नी और बेटियां चकरभाठा आए थे। इस दौरान वह महिला भी वहीं थी। इन लोगों में आपस में जमकर विवाद हुआ था। इसके बाद पत्नी-बच्चे घर लौट गए और महिला भी अपने घर चली गई।

देवेंद्र पाठक शराब पीने के आदी हो गए थे। चार दिनों तक रेंजर का कुछ पता नहीं चला। परिवार वालों ने भी उनकी खोज खबर नहीं ली। शनिवार की रात आसपास के लोगों को उनके घर से बदबू आने का आभास हुआ। तब उनके साले को बुलाया गया। उनके आने के बाद घर में जाकर देखे तब पता चला कि कमरे के अंदर बिस्तर में डिप्टी रेंजर मृत हालत में पड़े थे। उनके शव से बदबू भी आने लगी थी। इस घटना की सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस ने कमरे को सील कर दिया।

रविवार की सुबह पुलिस जांच करने पहुंची। इस दौरान परिवार वालों के आने के बाद दूसरी महिला भी पहुंच गई। इसके चलते उनके बीच विवाद शुरू हो गया। दरअसल, डिप्टी रेंजर की पत्नी व साले का आरोप था कि महिला से संबंध में चलते ही परिवार में कलह शुरू हुआ है। इसी के चलते उनके पति की भी मौत हो गई। उनके बीच हो रहे विवाद को देखते हुए पुलिस ने उन्हें शांत कराया। फिर दूसरी महिला को पुलिस ने वहां से जाने के लिए कहा। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजन को सौंप दिया है। वहीं इस मामले की जांच की जा रही है।
अधिक शराब पीने से मौत की आशंका
इस मामले की प्रारंभिक जांच में पुलिस को शक है कि शराब के अधिक सेवन से डिप्टी रेंजर की मौत हुई होगी। फिलहाल पुलिस शव का पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही मौत के कारणों का पता चलने की बात कह रही है।
जिला पंचायत सदस्य लिखे वाहन से पहुंची थी महिला
रविवार की सुबह डिप्टी रेंजर के शव की पुलिस जांच कर रही थी। इस दौरान उनकी पत्नी अंजना पाठक सहित परिवार के अन्य सदस्य भी थे। तभी जिला पंचायत सदस्य लिखी कार में सवार तीन महिलाएं वहां पहुंच गई। उन्हें देखते ही डिप्टी रेंजर की पत्नी व परिवार के सदस्यों का आक्रोश भड़क गया और विवाद शुरू हो गई। पुलिस ने हस्तक्षेप कर उनके विवाद को शांत कराया।