छत्तीसगढ़

अंबिकापुर मेडिकल कालेज अस्पताल में चार नवजात बच्चों की मौत, दिल्ली से वापस आ रहे स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव

अंबिकापुर। राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव मेडिकल कालेज अंबिकापुर (आरडीएसएमसी)में चार नवजात की मौत की जानकारी सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप में मच गया है। मेडिकल कालेज में कुछ घंटे के अंतराल में नवजातों की मौत हुई है। इसकी जानकारी मिलने पर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री की सिंहदेव दिल्ली से विशेष विमान से अंबिकापुर के दरिमा एयरपोर्ट पहुंच रहे हैं। मरने वाले बच्चों में दो से 36 दिन के नवजात शामिल हैं, जिनका वजन काफी कम बताया जा रहा है। जो अलग-अलग जिलों से यहां भर्ती कराए गए थे।

प्रभारी शिशु विभाग मेडिकल कालेज अस्पताल के डॉक्टर जेके रेलवानी के मुताबिक सभी बच्चे बर्थ एसफिकसिया बीमारी से पीड़ित थे। डॉ. रेलवानी के मुताबिक बर्थ एसफिक्सिया बीमारी में बच्चे प्रीमेच्योर होते हैं और जन्म के समय रोते नहीं। इस बीमारी में उनके ब्रेन में आक्सीजन की सप्लाई नहीं होती है। इसके बाद वह और कमजोर होते जाते हैं। दूसरे क्षेत्रों से यहां बच्चों को रेफर कर भेजा गया था। यहां आने के बाद बच्चों को बेहतर इलाज की व्यवस्था की गई है पर ऐसी स्थिति में बचा पाना मुश्किल होता है।

बता दें कि शनिवार को नवजातों की मौत के बाद स्वजनों ने मेडिकल कालेज अस्पताल के बाहर सड़क पर हंगामा किया था। डाक्टरों की समझाइश के बाद मामला शांत हुआ था। आज समाचार पत्रों में इस आशय की खबर छपने के बाद इसकी जानकारी भी स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को दी गई थी।कल ही वे अंबिकापुर से राजधानी रायपुर के बाद हाईकमान के बुलावे पर प्लेन से दिल्ली गए थे। मेडिकल कालेज अंबिकापुर में नवजात बच्चों की मौत की जानकारी मिलने पर भी अचानक दिल्ली से अंबिकापुर लौट रहे हैं।

शाम 4 बजे विशेष विमान से दरिमा एयरपोर्ट पहुंचेंगे। यहां से सीधे मेडिकल कालेज अस्पताल पहुंच स्थिति का जायजा लेंगे। बता दें कि जिले के प्रभारी मंत्री डॉक्टर शिव डहरिया अंबिकापुर आने वाले थे, उनका आगमन स्थगित हो गया। इससे पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के निर्देश पर कांग्रेस का एक प्रतिनिधि मंडल मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंच गया है और चिकित्सकों से नवजात बच्चों की मौत की जानकारी ले रहा है।

रायपुर व बिलासपुर से आएगा विशेषज्ञ चिकित्सकों का दल

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने नवजात बच्चों की मौत को गंभीरता से लिया है और उन्होंने मौत के कारणों की जानकारी लेने राजधानी रायपुर और बिलासपुर के विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम अंबिकापुर के लिए रवाना किया है। बताया जा रहा है शाम तक यह टीम भी आ जाएगी बच्चों की मौत की जानकारी लेगी।

प्रतिनिधिमंडल ने किया कारणों को जानने का प्रयास

मेडिकल कालेज अस्पताल के शिशु वार्ड में चार बच्चों के मौत की खबर पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के मंत्री एवं विधायक टीएस सिंहदेव दिल्ली के सभी कार्यक्रम निरस्त कर वापस अंबिकापुर लौट रहे हैं। इसी मामले को लेकर सरगुजा जिले के प्रभारी मंत्री शिव डहरिया के भी अंबिकापुर पहुंचने की सूचना है। विदित हो कि शनिवार को मेडिकल कालेज के मातृ एवं शिशु अस्पताल में चार बच्चों की मौत और अव्यवस्थाओं को लेकर स्वजनों ने हंगामा मचाया था। रविवार को दो और बच्चों की मौत हुई है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव शनिवार को ही अपने विधानसभा व गृह क्षेत्र से दिल्ली रवाना हुए थे। उनके अंबिकापुर लौटने की खबर मिलने पर कांग्रेस का प्रतिनिधमंडल मेडिकल कालेज के एमसीएच पहुंचा और बच्चों के मौत का कारण जानने का प्रयास किया। वहीं चिकित्सकों की विशेष टीम भी बच्चों की मौत का कारण जानने अंबिकापुर देर शाम तक पहुंचेगी।