छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़: मजबूरी की कहानी सुनाकर फंसा रहे चोर, एक ने रुपए नहीं है लिफ्ट दे दो कहकर बाइक चुरा ली, दूसरे ने अर्जेंट कॉल का बहाना बनाकर उड़ा लिया मोबाइल

घर के बाहर से यूं बाइक उड़ा ले गया बदमाश। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

रायपुर। भोले-भाले और उदास सी सूरत लिए कोई करीब आए तो इंसान उसकी मदद करता है। इसी टेक्नीक का इस्तेमाल रायपुर के चोर कर रहे हैं। उरला थाने में बीते 12 घंटे में ऐसे ही दो मामलों की FIR दर्ज की गई है। इन दो चोरियों में शातिरों ने इसे हथकंडे को अपनाया। मदद मांगने के नाम पर लोगों के करीब गए फिर उनकी बाइक और मोबाइल चुराकर भाग गए। दोनों ही मामलों में पुलिस ने केस दर्जकर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस को किसी लोकल गिरोह पर शक है। दावा किया जा रहा है घटना को अंजाम देने वाले जल्द पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

पहली घटना सिलतरा इलाके की है। यहां एक स्पंज आयरन की फैक्ट्री में काम करने वाला प्रताप यादव अपना काम खत्म कर शाम को लौट रहा था। प्रताप ने पुलिस को बताया कि वो पारिवारिक कारणों से उरला थाना इलाके के गांव कारा जा रहा था। सिलतरा चौक के पास पहुंचा ही था कि उसे एक युवक ने रोक लिया। वो कहने लगा उसके पास पैसे नहीं हैं, उरला में उसका घर है वहां जाना बहुत जरूरी है, लिफ्ट चाहिए। प्रताप ने दया दिखाते हुए उसे अपनी बाइक पर बिठा लिया।

रास्ते में युवक ने अपना नाम रमेश सेन बताया। कारा पहुंचने पर प्रताप ने अपने घर के बाहर बाइक रोक दी। तब रमेश भी साथ ही था, प्रताप अपने ससुराल पहुंचा बाइक बाहर पार्क की, रमेश से कहा कि वो अंदर घर वालों से मिलने जा रहा है, फिर उसे आगे छोड़ देगा। जब प्रताप लौटा तो वहां न उसकी बाइक थी न रमेश नाम का वो युवक जिसे लिफ्ट दी। बातों-बातों में प्रताप का ध्यान नहीं गया उसने बाइक की चाबी, बाइक में ही छोड़ दी थी और चोर ने अपना काम कर दिया।

एक कॉल करने दे दो भैया
दूसरी घटना दुर्ग जिले के रहने वाले डिगेश ठाकुर के साथ हुई। ये सरोरा के एलोय फैक्ट्री में काम करता है। अपनी बहन के साथ गोगांव इलाके में रहता है। डिगेश अपनी फैक्ट्री के बाहर चाय पीने आया था। इतने में एक 20-21 साल का लड़का इसके करीब आया और कहने लगा कि उसका फोन कहीं खो गया है एक अर्जेंट कॉल अपने बड़े भाई को करना चाहता है। उस लड़के को ये कहकर डिगेश से मोबाइल मांगा। विश्वास में आकर डिगेश ने अपना फोन दे दिया। बात करने की एक्टिंग करते हुए युवक डिगेश से कुछ फीट ही दूर खड़ी अपनी बाइक की तरफ भागा और फरार हो गया। डिगेश भी अपने कुछ साथियों के साथ बाइक सवार चोर के पीछे गया, मगर उसका कुछ पता नहीं चल सका।