छत्तीसगढ़

बिलासपुर: मटकी फोड़ प्रतियोगिता के दौरान मारपीट कर युवक की हत्या के बाद पुणे में माली बने 3 गिरफ्तार

पुलिस की गिरफ्त में आए आरोपी। - Dainik Bhaskar

बिलासपुर। मटकी फोड़ प्रतियोगिता के दौरान मारपीट कर एक युवक की जान लेने वाले 3 आरोपियों को सिरगिट्टी पुलिस ने पुणे से गिरफ्तार कर लिया है। इस मारपीट में यादव मोहल्ले के उमेश यादव (35) की रायपुर में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। पुलिस ने पहले ही 3 आरोपियों को जांजगीर से गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस के अनुसार फरार 3 अन्य आरोपी अपनी पहचान छिपा कर पुणे में माली का काम कर रहे थे।

30 अगस्त की रात यादव मोहल्ले में मटकी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन मोहल्ला वासियों ने किया था। उसी दौरान छोटे से विवाद में रात नौ बजे गांव के ही दूसरे मोहल्ले के लड़के जितेंद्र, राजा धुरी, सुनील भार्गव, आकाश, विशाल, गौरव और उसके साथी वहां पहुंच गए। इसके बाद उन्होंने मटकी फोड़ रहे लोगों को लाठी से पीटा और धारदार हथियार से हमला कर दिया। जिसका CCTV फुटेज भी जारी हुआ था। हमले में अमन यादव, घनश्याम, रिंकू, विकास, दुर्गेश, उमेश और वसंत घायल हुए थे। डायल 112 की मदद से घायलों को उपचार के लिए सिम्स भेजा गया था। बाद में गंभीर रूप से घायल उमेश को रायपुर रेफर किया गया था जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी।

पुणे में काम कर रहे थे आरोपी

मामला का खुलासा करते हुए ASP शहर उमेश कश्यप ने बताया कि वारदात को अंजाम देने के बाद से सभी 6 आरोपी फरार चल रहे थे। जिसमें से 3 को पहले ही पुलिस ने जांजगीर में छापा मार कर गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन आरोपी राजकुमार धुरी (20), विशाल बंजारे (20) और जितेंद्र भार्गव (22) का कुछ पता नहीं चल रहा था। जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों का मोबाइल सर्विलेंस पर लेकर उनकी खोजबीन शुरू कर दी। मोबाइल लोकेशन से पता चला की आरोपी पुणे में है। जहां पुलिस की टीम ने जाकर उन्हें धरदबोचा। पूछताछ में उन्होंने बताया कि वह तेलंगाना के रास्ते पुणे निकल गए थे। जहां कामसेत नाम की जगह पर मौजूद गुलाब गार्डन में मजदूरी और माली का काम करने लगे।