छत्तीसगढ़

सीएम भूपेश ने अजीत जोगी के मितान से की मुलाकात, राजमेरगढ़ को तपोभूमि बताकर डेवलप करने की कही बात

बिलासपुर। सीएम भूपेश बघेल दो दिवसीय दौरे पर गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला पहुंचे हुए हैं. सीएम भूपेश बघेल आज प्राकृतिक स्थल राजमेरगढ़ पहुंचे, जहां उन्होंने उसे पर्यटन स्थल के रूप में डेवलप करने की बात कही. पूर्व सीएम अजीत जोगी के मितान हरि सिंह कंवर से मिले. हरिसिंह ने शासन की योजनाओं की तारीफ की. CM भूपेश ने इस क्षेत्र को तपोभूमि बताते हुए डेवलप करने की बात कही. स्कूल में छोटे-छोटे बच्चों के बीच पहुंचे और उनसे मुलाकात की.

CM भूपेश बघेल आज से गौरेला-पेंड्रा मरवाही जिले के दो दिन के दौरे पर हैं. इंदिरा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के हेलीपैड में उतरे, फिर गौरेला पेंड्रा मरवाही के अधिकारियों और कांग्रेस पदाधिकारियों से मुलाकात की. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व सीएम अजीत जोगी के मितान गौरेला के पूर्व जनपद अध्यक्ष हरि सिंह कंवर से मुलाकात की.

भूपेश ने शासन की योजनाओं के बारे में पूछा, तो हरिसिंह ने योजनाओं की तारीफ की और सीएम के मिलने आने पर खुशी जाहिर की. सीएम फिर तवरडबरा गांव पहुंचे, जहां आदिवासी ग्रामीणों से बातचीत की. ग्रामीण रमेश ने शासन की सभी योजनाओं का नाम बताया. रहन-सहन की जानकारी दी और खुद चाय बनाकर पिलाई. सीएम ने गांव के आंगनबाड़ी केंद्र में बच्चों से भी बात की. उन्होंने इस इलाके को ऋषि मुनियों की तपोभूमि बताते हुए डेवलप करने की बात कही.

CM भूपेश ने कहा कि ये इलाका राहर, दाल, चना, काफी और चाय का क्षेत्र है. समर्थन मूल्य पर आदिवासियों के उत्पादन की खरीदी होगी. सीएम आज शाम अमरकंटक में मां नर्मदा की पूजा अर्चना करेंगे. फिर एक रिसोर्ट में रात्रि विश्राम करेंगे. कल मरवाही क्षेत्र के विधायक के. के. ध्रुव के पुत्र के निधन के दशगात्र कार्यक्रम में शामिल होंगे. उन्होंने आदिवासी परिवारों के बीच पहुंचकर शासन की योजनाओं को धरातल तक पहुंचाने के लिए उन्होंने कलेक्टर और अन्य अधिकारियों को निर्देशित भी किया है. साथ ही पर्यटन को बढ़ावा देने की बात कही है.