छत्तीसगढ़

कोरबा: खाली कुएं में बैठे अजगर को लोगों ने पत्थरों से मारकर किया अधमरा, स्नेक रेस्क्यू टीम ने बचाकर जंगल में छोड़ा


कोरबा। कोरबा में एक घायल अजगर के रेस्क्यू का मामला सामने आया है। मामला जिले के गेवरा बस्ती गांव का है, जहां कुछ लोगों ने खाली कुएं में बैठे एक अजगर को पत्थरों से मारकर अधमरा कर दिया। लेकिन एक अश्विनी मिरी नाम के युवक ने मानवता दिखाते हुए इसकी जानकारी स्नेक रेस्क्यू टीम के जितेंद्र सारथी को दी। जिसके बाद इस घायल अजगर का रेस्क्यू किया जा सका और उसकी जान भी बच गई।

शनिवार को कोरबा मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर गेवरा बस्ती गांव के खाली कुएं में कुछ लोगों ने अजगर को बैठा हुआ देखा, जिसके बाद उन्होंने उसे पत्थर से मारकर अधमरा कर दिया। इसके बाद अश्विनी ने इसकी जानकारी जितेंद्र को दी। फिर जितेंद्र ने अपनी टीम के साथ इस अजगर का रेस्क्यू किया, रेस्क्यू के दौरान जितेंद्र को भी काफी मशक्कत करनी पड़ी है।

स्नेक रेस्क्यू टीम के जितेंद्र सारथी अपने साथी के सहारे कुएं में उतरते हुए। अजगर को निकालने के दौरान टीम को भी मशक्कत करना पड़ा।

जंगल में वापस छोड़ा गया

जितेंद्र सीढ़ियों के सहारे कुएं में उतरते हैं। फिर अजगर को निकालने का प्रयास करते हैं। लेकिन वो नीचे गिर जाता है। इसके बाद फिर उसे किसी तरह ऊपर लाया जाता है। इस दौरान वो बार-बार रेस्क्यू टीम के मेंबर हमला करने का प्रयास करता है। आखिरकार रेस्क्यू टीम उसे बोरे में बंद कर कोरबा ले जाती है, जहां से उसका इलाज कर उसे वापस जंगल में छोड़ दिया गया है।

इस तरह की घटना से हमें तकलीफ होता है, तुरंत फोन करें

वहीं स्नेक रेस्क्यू टीम के जितेंद्र सारथी ने कहा है कि लोगों के द्वारा अजगर को मारा गया, इस तरह की घटना से हमें तकलीफ होती है। हम दिन रात काफी कोशिश कर रहे हैं कि इन जीवों को बचाया जा सके। आप लोगों को डरने की जरूरत नहीं है, आपसे निवेदन है कि किसी भी जीव को नहीं मारें। किसी भी वक्त अगर आपको इस तरह की समस्या होती है तो आप लोग हमें फोन करें। हम तुरंत मौके पर पहुंचेंगे, लेकिन किसी भी सांप या जीव जंतु को आप नहीं मारें। आप 8817534455 मोबाइल नंबर पर तुरंत इसकी सूचना हमें दे सकते हैं।