छत्तीसगढ़

मेडिकल यूनिवर्सिटी में बड़ा घोटाला, रिजल्ट बनाने वाली कंपनी ने एब्सेंट छात्र-छात्राओं को भी कर दिया पास

जबलपुर: मध्यप्रदेश की इकलौती मेडिकल यूनिवर्सिटी में बड़ा घोटाला सामने आया है। एमपी मेडिकल यूनिवर्सिटी में ये घोटाला, व्यापम फर्जीवाड़े की तर्ज पर किया गया। जहां छात्र-छात्राओं को पास-फेल करने का बड़ा खेल खेला गया। फर्जीवाड़े का आरोप विश्वविद्यालय में रिजल्ट बनाने वाली कंपनी माइंडलॉजिक्स पर है, जिसने एब्सेंट छात्र-छात्राओं को भी पास कर दियाI

हमेशा विवादों में रहनेवाली एमपी मेडिकल यूनिवर्सिटी में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। व्यापम की तर्ज पर यहां छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। दरअसल माइंडलॉजिक्स नाम की कंपनी को छात्रों के रिजल्ट का काम दिया गया था, लेकिन RTI में मिली जानकारी से जो सच सामने आया वो हैरान करने वाला था।

इस पूरे मामले की शिकायत आरटीआई एक्टविस्ट अखिलेश त्रिपाठी ने चिकित्सा शिक्षा विभाग से की थी, जिस पर जांच शुरु हो गई है। चिकित्सा शिक्षा विभाग ने जब शिकायत पर जांच के आदेश दिए तो कंपनी, छात्र- छात्राओं के गोपनीय डेटा पर ही कुंडली मारकर बैठ गई, लेकिन जानकारी मांगे जाने पर कंपनी ने बैंगलुरु स्थित अपना कार्यालय, लॉकडाउन में बंद होने का हवाला देकर जानकारियां देने में आनकानी की गई। बहरहाल मामले की छानबीन के लिए मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलसचिव की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी बनाई गई है।

बताया जा रहा है कि मेडिकल यूनिवर्सिटी में रिजल्ट का काम संभाल रही माइंडलॉजिक्स कंपनी की गड़बड़ियां पहले भी पाईं गईं थीं।