छत्तीसगढ़

कोरबा: नवपदस्थ कलेक्टर रानू साहू की प्रेसवार्ता; देंगी स्वास्थ्य, शिक्षा एवं स्वरोजगार के क्षेत्र में विकास को प्राथमिकता



कोरबा।जिले की नवपदस्थ कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने आज कलेक्टोरेट सभा कक्ष में जिले के इलेक्ट्राॅनिक एवं प्रिंट मीडिया के पत्रकारों से वार्ता की। प्रेस वार्ता की शुरूआत में उन्होंने जिले के पत्रकारों से परिचय प्राप्त किया। जिले के पत्रकारों ने अपने-अपने स्तर पर जिले में व्याप्त समस्याओं को रखा जिसका कलेक्टर ने शीघ्र समाधान करने का आश्वासन दिया। पत्रकार यत्र-तत्र राखड़ डंपिंग से पर्यावरण प्रदूषण का मामला कलेक्टर के संज्ञान में लाए जिसका शीघ्र समाधान करने का आश्वासन दिया गया। इसके साथ-साथ पत्रकारों ने भू-विस्थापितों की समस्या, अवैध रेत का भण्डारण, सड़को का धीमा काम तथा तय मापदण्डों पर पूरा नहीं होना, कोरबा-चांपा-कुसमुण्डा रोड मरम्मत, शिक्षको का संलग्नीकरण, आॅक्सीजन सिलेण्डर की आपूर्ति, डूबान क्षेत्र में विकास की संभावनाएं, प्राइवेट स्कूल की मनमानी कई विषयों पर कलेक्टर से चर्चा की। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने सभी पर प्राथमिकता से सिलसिलेवार निराकरण करने का आश्वासन दिया।
पत्रकारों ने कलेक्टर से जिले में प्राथमिकताओं के बारे में पूछा, जिसके जवाब में कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने बताया कि जिले में शिक्षा एवं स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाना पहली प्राथमिकता होगी। स्वास्थ्य को प्राथमिकता देते हुए उन्होंने बताया कि जिले में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को बेहतर ईलाज के लिए साधन संपन्न बनाया जाएगा। आॅक्सीजन सिलेण्डर की आपूर्ति, कोविड टेस्टिंग की व्यवस्थाएं और भी बेहतर तरीके से सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने बताया कि कोरोना जैसी महामारी से लड़ने में हम सब की सहभागिता जरूरी है। अगर सभी व्यक्ति जागरूक होकर कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन करें तो प्रशासन को भी इसे नियंत्रित करने में काफी सुविधा होगी।
कलेक्टर ने शिक्षा का महत्व बताते हुए कहा कि आज बेहतर शिक्षा के कारण ही मैंने गरियाबंद जिले के छोटे से गांव से निकलकर आई.ए.एस. बनने तक का सफर तय किया। कोरबा जिले में शिक्षा व्यवस्था को और बेहतर बनाना सर्वोच्च प्राथमिकता होगी। कलेक्टर ने स्वरोजगार के महत्व को बताते कहा कि लोगों को खुद के व्यवसाय और रोजगार से जोड़कर उन्हें सक्षम बनाने की दिशा में काम ककिया जाएगा।