छत्तीसगढ़

टूलकिट मामला: पूर्व CM रमन सिंह को पुलिस ने दूसरी बार जारी किया नोटिस, संबित पात्रा को भी भेजा जाएगा

रायपुर। कथित ‘टूलकिट’ मामले में नेताओं की मुश्किलें बढ़ रही हैं.भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को पुलिस ने दूसरी बार नोटिस जारी किया है. सिविल लाइन पुलिस ने रमन सिंह को नोटिस जारी कर कई सवाल पूछे हैं. पूर्व सीएम रमन सिंह ने मेल के माध्यम से समय मांगा है. इससे पहले 21 मई को सिविल लाइन ने रमन सिंह को नोटिस जारी किया था.

संबित पात्रा को भी जल्द जारी होगा नोटिस

इसके अलावा टूलकिट मामले में सिविल लाइन पुलिस भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को भी जल्द तीसरी नोटिस जारी कर सकती है. राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को इससे पहले 2 बार नोटिस दी जा चुकी है. टूलकिट मामले में कांग्रेस की शिकायत के बाद पुलिस ने संबित पात्रा और डॉ. रमन सिंह को आरोपी बनाया है.

उचित समय पर होगी उचित कार्रवाई- SSP

रायपुर एसएसपी अजय यादव ने कहा कि पुलिस ने संबित पात्रा को पूर्व में 2 बार नोटिस जारी किया है. जिसके जवाब में उन्होंने समय मांगा है. इस मामले में लगातार जांच की जा रही है. इस मामले के शिकायतकर्ताओं से भी बयान लिया जा रहा है. पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को भी नोटिस भेजा गया है. उन्होंने भी 7 दिनों का समय मांगा है. सभी चीजों का अवलोकन किया जा रहा है. पूरी जानकारी के साथ फिर संबित पात्रा को नोटिस जारी किया जाएगा. उचित समय पर उचित कार्रवाई की जाएगी.

इस ट्वीट से मचा था बवाल

बता दें कि 18 मई को रमन सिंह ने टूलकिल मामले में ट्वीट किया था. उन्होंने कहा था कि कोरोना संकट के समय में कांग्रेस की बिलो द बेल्ट राजनीति देखकर शर्म आती है. विदेशी मीडिया में देश को बदनाम करने @INCIndia कुंभ का दुष्प्रचार और जलती लाशों की फ़ोटो दिखाने का षड्यंत्र कर रही है. महामारी से साथ लड़ने के बजाय कांग्रेस लोगों को आपस में लड़ा रही है.

कांग्रेस ने कराया था एफआईआर

इस ट्वीट के बाद कांग्रेस आग बबूला हो गई. 19 मई को रमन सिंह और संबित पात्रा के खिलाफ रायपुर के सिविल लाइन थाने में कांग्रेस ने एफआईआर दर्ज कराया था. जिसके बाद पुलिस ने रमन सिंह और संबित पात्रा को नोटिस जारी किया गया है.