छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ :दुर्ग, रायपुर,बेमेतरा और राजनांदगांव के बाद इस जिले में भी 10 अप्रैल से 9 दिन का टोटल लॉकडाउन, , रायपुर की शादी-अन्त्येष्टि में 10 लोग ही मंजूर

रायपुर। छत्तीसगढ़ में रायपुर और दुर्ग के बाद बेमेतरा, राजनांदगांव और फिर बालोद जिले में भी 9 दिन का टोटल लॉकडाउन लगा दिया गया है। कोरोना से बिगड़ते हुए हालात को देखते हुए कलेक्टर ने 10 अप्रैल की शाम छह बजे से लेकर 19 अप्रैल तक लॉकडाउन का निर्णय लिया। वहीं, कोरबा जिले में दुकानों के खुले रहने का समय घटा दिया गया है। नये आदेश के मुताबिक सुबह 6 बजे से दोपहर 3 बजे तक ही दुकानें खुली रह सकेंगी। रायपुर कलेक्टर ने लॉकडाउन की शर्तों में परिवर्तन कर दिया है। अब विवाह और अन्त्येष्टि में 10 से अधिक लोगों को अनुमति नहीं दी जाएगी। पहले ऐसे आयोजनों में 50 लोगों को शामिल होने की अनुमति थी। शादी को वर अथवा वधु के घर में संपन्न कराने को कहा गया है। यानी इसके लिये मैरेज हॉल या होटल-धर्मशाला से आयोजन की अनुमति नहीं मिलेगी।

9 टीमों की दुकानदारों पर नजर, रेट ज्यादा मिलने पर होगा एक्शन
संक्रमण की बढ़ती रफ्तार की वजह से दुर्ग जिले में 6 से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन लगा हुआ है। रायपुर में भी शुक्रवार शाम 6 बजे से 10 दिनों के लिए टोटल लॉकडाउन हो जाएगा। इससे पहले ही दुकानदारों ने अचानक जरूरी सामान की कीमतें बढ़ा दी हैं। रायपुर कलेक्टर डॉक्टर एस. भारतीदासन ने कालाबाजारी रोकने अधिकारियों की 9 टीम बनाई हैं। इसमें शामिल अधिकारियों को बाजारों और दुकानों पर नजर रखने को कहा गया है। यदि किसी भी दुकान में सामान की कीमत ज्यादा मिलती है तो टीम दुकानदारों पर कार्रवाई करेगी। कलेक्टर ने बताया कि टीम शुक्रवार शाम तक जांच कर कार्रवाई करेंगी।

कोरोना अपडेट

  • रायपुर कलेक्टर ने शहर में रेल और हवाई जहाज से आने-जाने वाले यात्रियों के लिए ई-पास की अनिवार्यता के भ्रम को दूर करने की कोशिश की है। नई गाइडलाइन में स्पष्ट किया गया है कि ऐसे लोगों को ई-पास की जरूरत नहीं होगी। उनका टिकट ही पास माना जाएगा।
  • रायपुर जिले में प्रस्तावित लाॅकडाउन से पहले कुछ इलाकों को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। नए जोन में रायपुर शहर का चंगोराभाठा, मेट्रो ग्रीन्स सोसाइटी, विरासत अपार्टमेंट, बिरगांव में वार्ड 28 और 33 व अभनपुर का एक गांव परसदा शामिल है। प्रशासन ने इन इलाकों की बाड़ाबंदी कर रहवासियों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है।
  • रायपुर में लॉकडाउन के दौरान जरूरी होने पर दूसरे जिलों अथवा प्रदेश से बाहर जाने के लिए ई-पास की जरूरत होगी। इसके लिए आज जिला प्रशासन की वेबसाइट पर एक लिंक जारी की जाएगी। इसके जरिए आवेदन किया जा सकेगा।
  • रायपुर जिला प्रशासन ने पांच सरकारी भवनों में कोरोना मरीजों के लिए आइसोलेशन सेंटर शुरू किया है। आयुष विश्वविद्यालय, होटल मैनेजमेंट संस्थान, वर्किंग वीमन हॉस्टल और प्रयास के बालक-बालिका छात्रावासों के अधिग्रहण के बाद 1800 बेड की सुविधा बनाई गई है।
  • प्रशासन ने कोरोना ड्यूटी पर नहीं आने वाले कर्मचारियों पर सख्ती शुरू की है। 54 शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इनमें से 38 महिलाएं हैं। इन सबसे तीन दिनों में जवाब मांगा गया है।