छत्तीसगढ़

फिल्म कंपनियों ने 350 करोड़ की टैक्स चोरी की, तापसी के पास से 5 करोड़ कैश लेने के सबूत मिले: IT

  • मुंबई समेत कई शहरों में 28 जगहों पर छापेमारी जारी
  • ‘कंपनी के अधिकारी 300 करोड़ रुपये का हिसाब नहीं दे पाए’
  • 350 करोड़ रुपये की टैक्स गड़बड़ी का पता चलाः IT

मुंबई। अभिनेत्री तापसी पन्नू और फिल्म डायरेक्टर अनुराग कश्यप समेत फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े कुछ लोगों तथा कंपनियों पर आयकर विभाग की छापेमारी और जांच चल रही है. आयकर विभाग ने आज गुरुवार को जारी अपने बयान में कहा कि सर्च के दौरान इन प्रोडक्शन हाउस के आय और शेयर में बड़े पैमाने पर हेराफेरी के सबूत मिले हैं.

सूत्रों के अनुसार, विभाग ने कहा कि आयकर विभाग को 350 करोड़ रुपये की टैक्स गड़बड़ी का पता चला है. कंपनी के अधिकारी 350 करोड़ रुपये के बारे में कोई जवाब नहीं दे पाए हैं. तो वहीं तापसी पन्नू के नाम पर 5 करोड़ की कैश रिस्पिट रिकवर हुई है जिसकी जांच जारी है.

आयकर विभाग ने कहा कि 3 मार्च (बुधवार) से 2 बड़े फिल्म प्रोडक्शन हाउस, एक अभिनेत्री और मुंबई की 2 टैलेंट मैनेजमेन्ट कंपनी के ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है. ये छापेमारी मुंबई, दिल्ली, पुणे और हैदराबाद में चल रही है. ऑफिस और आवास समेत मिलाकर कुल 28 जगहों पर छापेमारी हो रही है.

छापेमारी के दोनों अलग मामले

आयकर विभाग से जुड़े सूत्रों ने बताया कि ये दो अलग-अलग मामले चल रहे हैं. एक फैंटम फिल्म्स के शेयरधारकों के खिलाफ है और दूसरा मामला तापसी पन्नू के खिलाफ है. तापसी पन्नू और उनकी कंपनी पर करीब 25 करोड़ रुपये की आयकर चोरी का शक है. तापसी ने करीब 5 करोड़ रुपये नकद पैसे लिए. उनकी कंपनी भी आयकर चोरी में शामिल है. उनका करार भी आईटी के रडार पर है. 

सूत्रों का कहना है कि कल उनका शुरुआती बयान दर्ज किया जा चुका है. आज फिर से विस्तृत बयान दर्ज किया गया है. आयकर विभाग के अफसरों को संदेह है कि उनके मोबाइल फोन से कुछ डेटा डिलीट किया गया है. हालांकि आईटी अधिकारियों के पास ऐसे एक्सपर्ट हैं जो फिर से डेटा को हासिल कर सकते हैं. सर्च ऑपरेशन जारी है. उन्हें आने वाले दिनों में जांच के लिए आईटी अधिकारियों द्वारा बुलाया जा सकता है.

दूसरा मामला फैंटम फिल्म्स से जुड़ा है. फैंटम फिल्म्स के शेयरधारकों पर करीब 600 करोड़ रुपये की आयकर चोरी का संदेह है. शेयरधारकों ने फैंटम फिल्म्स की हिस्सेदारी बेची और इसके जरिए जो पैसा कमाया, उस पर हुए मुनाफे के मुताबिक उन्होंने उस पर आयकर नहीं चुकाया. उन्होंने फर्जी खर्च दिखाए. उनकी ओर से फर्जी बिल बनाए गए.

अनुराग कश्यप समेत कई लोगों ने अपने मोबाइल फोन से डेटा डिलीट कर दिया है. कहा जा रहा है कि अगर कोई संदिग्ध डेटा नहीं था तो उसे क्यों हटाया गया.

हिसाब नहीं दे पाए अधिकारीः IT

छापेमारी में इस बात के सबूत मिले है कि फिल्म प्रोडक्शन हाउस की वास्तविक कमाई के मुकाबले ज्यादा आय है. कंपनी के अधिकारी इस तरह के 300 करोड़ रुपये का हिसाब नहीं दे पाए. 

फिल्म निर्देशकों और शेयरधारकों के बीच प्रोडक्शन हाउस के शेयर लेन-देन में हेरफेर और कम-मूल्यांकन से संबंधित सबूत लगभग 350 करोड़ मिले हैं और आगे की जांच की जा रही है.

प्रमुख अभिनेत्री (तापसी पन्नू) द्वारा 5 करोड़ रुपये की नकद प्राप्ति के साक्ष्य बरामद किए गए हैं. आगे की जांच चल रही है. इसके अलावा, प्रमुख प्रोड्यूसर्स, डायरेक्टर्स द्वारा खर्चों को लेकर फर्जीवाड़े का पता चला है. इससे करीब 20 करोड़ की हेराफेरी की गई है. अभिनेत्री के मामले में भी ऐसा ही पाया गया है. 

डिजिटल डिवाइस का बैकअप रख रहा विभाग

दो प्रतिभा प्रबंधन कंपनियों के कार्यालय परिसर में, ईमेल, व्हाट्सएप चैट, हार्ड डिस्क आदि के रूप में भारी मात्रा में डिजिटल डेटा जब्त किए गए हैं, जिनकी जांच चल रही है. तलाशी के दौरान 7 बैंक लॉकर्स मिले हैं, जिनकी जांच चल रही है. सभी परिसरों में तलाश जारी है.

सूत्रों के अनुसार, आयकर विभाग ने यह भी पुष्टि है कि RoC रिकॉर्ड्स के अनुसार फैंटम फिल्म्स अभी भी चालू है और छापे के दौरान मिली चीजों की पड़ताल से यह साफ है कि कंपनी के पार्टनर्स अभी भी बने हुए हैं. डिजिटल डेटा यह साबित करता है कि उनकी ओर से भारी मात्रा में वित्त और कर चोरी की गई थी. विभाग की एक टीम अभी शूट लोकेशन पर है जहां अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू एक प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे. सर्च ऑपरेशन और पूछताछ अभी जारी है.

सर्च अभियान के दौरान विभाग सभी डिजिटल डिवाइस का बैकअप रख रहे हैं. साथ ही व्हाट्सएप चैट का भी बैकअप लिया जा रहा है, जिसकी बाद में जांच होगी. सर्च पूरी होने के बाद अगर किसी सामान को जब्त करना है, तो वो भी किया जाएगा. आईटी सूत्रों की मानें, तो उन्हें सर्च ऑपरेशन के दौरान कई पुख्ता सबूत मिले हैं. आयकर विभाग ने अभी तक 7 लॉकर्स पर पाबंदी लगा दी है, यानी मालिक इन्हें अभी नहीं खोल पाएंगे.