छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़: कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम में नहीं बनाया अतिथि तो कांग्रेसी नेता ने दी अफसरों को ट्रांसफर की धमकी

तस्वीर जशपुर के कांग्रेस नेता पवन अग्रवाल की है। कोरोना काल में काम करने वाले डॉक्टर्स के साथ वो इस अंदाज में बात करते दिखे। - Dainik Bhaskar

जशपुर। कांग्रेस के नेताजी को कोरोना वैक्सीनेशन के कार्यक्रम में किसी ने पूछा नहीं। इस बात पर नेता जी बेहद नाराज हो गए । अफसरों को खूब हड़काया और ट्रांसफर करवा देने की धमकी तक दे डाली। इतना ही नहीं अस्पताल में पदस्थ नेताजी के डॉक्टर पुत्र ने पत्रकारों से बदसलूकी करते हुए पत्रकारों का मोबाईल छीनकर नेताजी के हंगामे के वीडियो भी डिलीट करवा दिया।

शनिवार को पत्थलगांव सिविल अस्पताल में 100 स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना का टीका लगना था। इस कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल के सदस्य और कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष पवन अग्रवाल को किसी ने आमंत्रित नहीं किया। अपने इगो के हर्ट होने से झुंझलाए पवन अग्रवाल अस्पताल पहुंच गए। उन्होंने डीएचओ डॉ रंजीत टोप्पो, बीएमओ डॉ जेम्स मिंज समेत अन्य अधिकारियों पर गुस्सा निकाला। कहने लगे कि बस पत्रकारों को बुलाकर सब कार्यक्रम करवा लो…। यहां मन नहीं लग रहा तो जहां मन लगेगा वहां भिजवा दूंगा। 

नेता जी का बेटा डॉक्टर मगर हरकत गुंडों वाली 
कांग्रेस नेता पवन अग्रवाल का बेटा पत्थलगांव अस्पताल में बतौर डॉक्टर पदस्थ है। इसका नाम डॉ विकास गर्ग है। डॉ विकास ने देख लिया कि पिता की सनक मीडिया के कैमरे में कैद हो चुकी है। इसने कुछ पत्रकारों के मोबाइल छीन लिए और हंगामे का वीडियो डिलिट कर दिया। इस वजह से हंगामा और बढ़ गया और पुलिस को बीच-बचाव करना पड़ा। बीजेपी नेता गौरीशंकर श्रीवास ने इस पर कहा कि सत्ता की हनक तो देखिये, गजब का तेवर है भाई। नेताजी के गुंडा पुत्र ने तो पत्रकारो का मोबाईल तक छीन लिया। हे राम..।