छत्तीसगढ़

देशभर में एक साथ खोले जा सकते हैं स्कूल! बोर्ड एग्जाम भी तय समय में कराने की मांग

नई दिल्ली। कोरोना काल में सभी स्कूल, कॉलेज और शिक्षण संस्थानें बंद हैं और ऑनलाइन पढ़ाई जारी है। करीब आ रहे बोर्ड एग्जाम को लेकर सीबीएसई समेत तमाम बोर्ड ने बयान जारी कर परीक्षाएं तय समय पर ही कराने पर जोर दिया है।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने कक्षा 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं को लेकर खबर ये है कि एग्जाम लिखित मोड में ही कराए जाएंगे। यानी ऑनलाइन एग्जाम नहीं होंगे। एग्जाम की तारीखों को लेकर अभी कोई फैसला नहीं किया गया है। कयास लगाए जा रहे हैं कि 10वीं और 12वीं की प्रैक्टिकल परीक्षा अगले महीने जनवरी में आयोजित की जा सकती हैं। हालांकि अभी तक यह चर्चा में है कि बोर्ड अपने तय समय पर ही एग्जाम आयोजित करेगा।

बोर्ड एग्जाम नजदीक आता देख 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स के चेहरों पर चिंता की लकीर साफ देखी जा सकती है। क्योंकि इस बार स्टूडेंट्स ने एक दिन भी स्कूल के दर्शन नहीं किए हैं। कुछ राज्यों में स्कूल खुले भी थे, लेकिन त्योहार और सर्दी के मौसम में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ती देख कई राज्यों ने फिर से स्कूल बंद कर दिए हैं।

स्टूडेंट्स का कहना है कि ऑनलाइन क्लास में वह अपने एग्जाम की उस तरह से तैयारी नहीं कर पा रहे हैं जितना कि होनी चाहिए। प्राइवेट ट्यूशन क्लास भी बंद हैं। उधर, जनवरी में बोर्ड एग्जाम के लिए प्रैक्टिल परीक्षाएं शुरू हो जाती हैं। इसलिए बिना स्कूल खुले एग्जाम कराना भी किसी चुनौती से कम नहीं है उधर, जनवरी में बोर्ड एग्जाम के लिए प्रैक्टिल परीक्षाएं शुरू हो जाती हैं। इसलिए बिना स्कूल खुले एग्जाम कराना भी किसी चुनौती से कम नहीं है।

काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर अगले साल 4 जनवरी से स्कूल खोलने की मांग की है। काउंसिल ने राज्यों को लिखे पत्र में कहा है कि 4 जनवरी से 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स के लिए स्कूल खोलने की मंजूरी दी जाए।