छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़: अंधे क़त्ल की गुत्थी सुलझी, जमीन विवाद को लेकर हुई थी हत्या, दो गिरफ़्तार

GLIBS

कोंडागांव। पुलिस ने अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझा ली है। दरअसल सुरेश कुमार नाग ने थाना कोण्डागांव में रिपोर्ट दर्ज कराई थी की उसके पिता लक्ष्मण नाग 31 अक्टूबर को खेतों में धान काटने के लिए घर से निकले थे,जो घर नहीं लौटे। रात करीब 9 बजे उसके भतीजे ने बताया कि एक व्यक्ति ग्राम हीरामांदला में रोड पर पडा हुआ है, जो लक्ष्मण नाग जैसा दिख रहा है। वहां जाकर देखने पर पता चला कि उसके पिता लक्ष्मण नाग मृत हालत पर पड़े थे। सीने के बांये तरफ एक धारदार चाकूनुमा हथियार धंसा हुआ था। सुरेश कुमार की रिपोर्ट पर पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के विरूद्ध हत्या का अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया गया था।पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनंत साहू के मार्गदर्शन में तथा पुलिस अनुविभागीय अधिकारी कोण्डागांव कपिल चन्द्रा के पर्यवेक्षण में अज्ञात आरोपी के पता तलाश के लिए टीम गठित की गई।

टीम को ग्रामीणों व चश्मदीद गवाहों से पूछताछ, तकनीकी साक्ष्यों तथा मुखबिर की सूचना के आधार पर ज्ञात हुआ कि घटना दिनांक के शाम को घटना स्थल पर संदेही नीलचंद बघेल और राजेश नाग देखे गये थे, जो घटना के बाद से फरार थे। संदेहियों का पता तलाश के लिए टीम ने दबिश देकर हिरासत में लिया। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने अपराध कबूल कर बताया कि ग्राम मेढपाल के लक्ष्मण नाग के साथ जमीन विवाद व रंजिश चलते मारने का प्लान बनाया था। आरोपियों ने बताया कि लक्ष्मण नाग की चाकू से वारकर हत्या कर दी। आरोपी नीलचंद बघेल व राजेश नाग को 23 नवंबर को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा पर भेजा गया।