छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़: जेल में बंद कैदियों को बहनों से वीडियो कॉलिंग व फोन पर बात करने की मिलेगी छूट

GLIBS

रायपुर। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने जेल में बंद भाइयों से वीडियो कॉलिंग और फोन पर बात करने की वैकल्पिक व्यवस्था के लिए एडीजी जेल को निर्देश दिए हैं। बताया गया कि रक्षाबंधन के मौके पर जेल में बंद कैदियों को उनकी बहनों से वीडियो कॉलिंग व फोन पर बात करने की छूट दी जाएगी। वैश्विक महामारी कोविड19 के फैलते संक्रमण को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। किसी को भी जेल में मुलाकात नहीं करने दी जाएगी। रक्षाबंधन का त्यौहार भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक है। हर साल इस दिन जेल में बंद कैदियों को उनकी बहने राखी बांधने जेल जाती हैं किंतु कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार जेल में मिलना बंद किया गया है।

ताम्रध्वज साहू ने कहा है कि जेलों में वीडियो कॉलिंग व फोन के माध्यम से बंदियों को उनकी बहनों से बात कराने की व्यवस्था की जाए जिससे बहनें अपने भाइयों से रक्षाबंधन के दिन बात कर सकें। यदि जेल प्रबंधन के पास पोस्टल डाक के द्वारा भेजी गई राखियां प्राप्त होती हैं तो उसे जेल के अंदर पहुंचा दी जाए। भाई बहन के इस त्यौहार से लोगों की जो भावना जुड़ी है उसे हम समझते हैं और उसका सम्मान भी करते हैं लेकिन न मिलने देने का फैसला भी जनता की सुरक्षा के मद्देनजर ही लिया गया है।